भारत के प्रमुख राजनीतिक दलों के संगठन और घोषणा-पत्रों का संक्षेप में वर्णन कीजिए।

भारत के प्रमुख राजनीतिक दलों के संगठन और घोषणा-पत्रों का संक्षेप में वर्णन कीजिए। अथवा भारतीय राजनीति में किसी एक प्रमुख राष्ट्रीय दल के संगठन, विकास, कार्य एवं राष्ट्रीय राजनीति में उनकी भूमिका पर विवेचनात्मक निबंध लिखिए। अथवा भारत के प्रमुख राजनीतिक दलों का वर्णन … Read more

राजनीतिक दल-बदल हमारी संसदीय प्रणाली के सुगम संचालन में एक प्रमुख बुराई के रूप में उदित हुआ है। भारत में दल-बदल के प्रमुख कारण क्या है? स्पष्ट कीजिए।

राजनीतिक दल-बदल हमारी संसदीय प्रणाली के सुगम संचालन में एक प्रमुख बुराई के रूप में उदित हुआ है। भारत में दल-बदल के प्रमुख कारण क्या है? स्पष्ट कीजिए।                               अथवा भारतीय … Read more

भारतीय संदर्भ में लोकतंत्र में विरोधी दलों की भूमिका।

भारतीय संदर्भ में लोकतंत्र में विरोधी दलों की भूमिका। भारतीय संदर्भ में लोकतंत्र विरोधी दलों की भूमिका (With Refrence to India the Role of Opposition in Democracy) लोकतांत्रिक शासन-व्यवस्था में राजनीतिक दलों का होना अनिवार्य है। इस व्यवस्था के अंतर्गत होने वाले सामान्य निर्वाचन में … Read more

भारत में दल-प्रणाली के विकास और विशेषताओं का वर्णन कीजिए।

भारत में दल-प्रणाली के विकास और विशेषताओं का वर्णन कीजिए।                                    अथवा “भारतीय राजनीतिक दलीय व्यवस्था राष्ट्रोन्मुखी न होकर व्यक्तिन्मुखी है।” विवेचना कीजिए। भारत में दलित प्रणाली का विकास(Growth … Read more

भारत के निर्वाचन आयोग के संगठन, शक्तियों एवं कर्तव्यों का वर्णन कीजिए।

भारत के निर्वाचन आयोग के संगठन, शक्तियों एवं कर्तव्यों का वर्णन कीजिए। भारत का निर्वाचन आयोग(Election Commission of India) लोकतंत्र की सफलता और उसका भविष्य निर्वाचन-व्यवस्था की निष्पक्षता पर निर्भर करता है। लोकतंत्रीय शासन-व्यवस्था में निर्वाचनों का विशेष महत्व है क्योंकि निर्वाचन ही ऐसा माध्यम … Read more

प्रजातंत्र के प्रकार तथा गुण एवं दोष की आलोचनाएं।

प्रजातंत्र के प्रकार तथा गुण एवं दोष की आलोचनाएं। प्रजातंत्र के प्रकार(Forms of Democracy) प्रजातंत्र मुख्य रूप से दो प्रकार का होता हैं- (1) प्रत्यक्ष प्रजातंत्र (Direct Democracy)- जब जनता द्वारा प्रत्यक्ष रूप से शासन कार्यों में भाग लिया जाता है तो उसे प्रत्यक्ष लोकतंत्र … Read more

भारत में संसदीय व्यवस्था या लोकतंत्र के भविष्य की विवेचना कीजिए।

भारत में संसदीय व्यवस्था या लोकतंत्र के भविष्य की विवेचना कीजिए।                                  अथवा भारत में संसदीय लोकतंत्र के भविष्य पर एक निबंध लिखिए। भारत में संसदीय व्यवस्था या लोकतंत्र का … Read more

अनुदार दल की संरचना, प्रमुख सिद्धांतों एवं नीति की विवेचना कीजिए।

अनुदार दल की संरचना, प्रमुख सिद्धांतों एवं नीति की विवेचना कीजिए। प्रस्तावना(Introduction) सन् 1932 के सुधार अधिनियम के पारित होने के उपरांत मतदाताओं की संख्या में आशातीत वृद्धि होने पर अनुदार दल के सदस्यों ने अपने दल के केंद्रीय संगठन की आवश्यकता अनुभव की तथा … Read more

फासीवाद के गुण-दोषों का आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए।

फासीवाद के गुण-दोषों का आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए।                                 अथवा फासीवादी विचारधारा के गुण-दोषों का वर्णन कीजिए। फासीवाद के गुण(Merits of Fascism) फासीवाद के गुण अग्रलिखित हैं- (1) शासन की कुशलता … Read more

विभिन्न प्रकार की स्वतंत्रताओं का वर्णन कीजिए। तथा स्वतंत्रताओं की क्या मर्यादाएं हैं ? ये मर्यादाएं क्यों आवश्यक हैं।

विभिन्न प्रकार की स्वतंत्रताओं का वर्णन कीजिए। तथा स्वतंत्रताओं की क्या मर्यादाएं हैं ? ये मर्यादाएं क्यों आवश्यक हैं। प्रस्तावना(Introduction) राजनीतिशास्त्र के विचारकों ने स्वतंत्रता के अनेक रूपों का प्रतिपादन किया है। मोंटेस्क्यू (Montesquieu) का कथन है कि स्वतंत्रता शब्द के अतिरिक्त और कोई दूसरा … Read more